Associate Memory and Memory Hierarchy in hindi

जिस  प्रकार Ram में Store किये जाने Date को उसके यूनिक कोड से पहचान जाता हे उसी प्रकार Associative Memory  Data को उसमे Content से पहचाना या Access किया जाता है, इसी कारण इसे Content Addressable Memory भी कहाँ जाता है.

What is Associative Memory 

Associative Memory :- यह भी एक प्रकार की प्राइमरी मेमोरी है परंतु Ram से थोड़ी भिन्न है।
Ram मैं जब किसी डाटा कांटेक्ट को Access किया जाता तब उसको लोड करना उसके लोकेशन से स्वतंत्र होता है | अथार्त Fetching Time सभी के लिए बराबर होता हैं।

Memory से Multiple Fetching भी Parallel की जा सकती है कंप्यूटर में Data Fetching के लिए (उनके लिए ही काम करना) इसी कारण मेमोरी की कैपेसिटी बदलने के साथ-साथ हार्डवेयर की एडिशनल पोस्ट भी बढ़ जाती है-

उन स्थानों पर एप्लीकेशन पर किया जाता है जा Fetching समय अत्यधिक महत्वपूर्ण होता है।

Associative Memory

Associative मेमोरी में विभिन्न प्रकार केछोटे-छोटे सेल होते हैं तथा प्रत्येक सेल Array के रूप में होता है प्रत्यक्ष सेल  में चार इनपुट 2 output होते हैं।

Memory Hierarchy

Memory Hierarchy का अर्थ है विभिन्न प्रकार की मेमोरी की अरेंजमेंट करना,  वह भी सीपीयू के सापेक्ष, या मेमोरी को अलग-अलग  लेवल में विभाजित किया जाता है इन्हें हाईएस्ट सेलो आज तक वर्गीकृत किया जाता है तथा उनकी यह वर्गीकृत स्पीड पोस्ट एवं वैल्यू सिटी पर निर्भर करती हैं

मेमोरी को Hierarchy में अरेंज करने से यह लाभ होता है कि जिस लेवल में हमें सूचना का एक्सचेंज करना है तो फास्ट होता है जा देरी नहीं हो सकती अथार्थ सूचना को एक्सचेंज करने में देरी होती हैं तो नुकसान होता है।

Memory Hierarchy Design का मुख्य उद्देश्य अधिकतम परफॉर्मेंस जोकि फास्टेस्ट डिवाइस यह नजदीक हो तो प्राप्त करना होता है साथ ही साथ स्टोरेज के सापेक्ष न्यूनतम रखना होता है.

इन अटैचमेंट में सीपीयू के साथ जो मेमोरी सीधे तौर पर उपलब्ध होती हैं, वह रजिस्टर होते हैं जिस की गतिविधियों के सफेद सम्मान व तकनीक भी सीपीयू के समान ही होती है रजिस्टर की साइज सीपीयू के संरचना पर निर्भर करती हैं।

No comments:

Post a Comment

सवाल पूछने के बाद "Notify me" आप्शन को ✔(Right Mark) करे, ताकि आपके पूछे गये सवाल का जवाब मिलने पर आपको सुचना मिल जाये:-